Sunday , September 15 2019

Pi Health:: अगर आपके भी पैरों में अक्सर रहती हैं सूजन, तो हो सकती हैं ये गंभीर बीमारी !!!

(Pi Bureau)

क्या आप भी अपने पैरों में अक्सर सूजन महसूस करते हैं? पैरों और एड़ियों में सूजन की समस्या उम्रदराज लोगों और प्रेग्नेंट महिलाओं में ज्यादा होती है। यूं तो पैरों की सूजन कोई बीमारी नहीं है, लेकिन लंबे समय तक यह स्थिति रहे तो कई गंभीर बीमारियों के संकेत मिलते हैं। यहां जानिए ऐसा क्यों होता है और इसका क्या इलाज है –

पैरों में सूजन के कारण-
पैरों में सूजन को डॉक्टरी भाषा में पेडल एडिमा कहा जाता है। इसका मुख्य कारण होता है पैर में असामान्यरूप से फ्लूइड का बनना। इस फ्लूइड के बनने के कई कारण हो सकता हैं जैसे – कोई चोट या कोई अन्य मेडिकल कंडिशन। इन मेडिकल कंडिशन में शामिल हैं – गुर्दे का ठीक से काम न करना (किडनी की खराबी, संभवतः रक्त प्रवाह कम होने के कारण), हार्ट में समस्या, अथवा गुर्दे या किडनी से जुड़े रोग।

पैरों की सूजन के अन्य कारणों में शामिल हैं- यूरिन से जुड़ी दवाएं लेना, डिप्रेशन की दवा लेना, और एस्ट्रोजन और टेस्टोस्टेरोन थेरेपी।

यदि किसी का हार्ट ठीक काम नहीं कर रहा है, थायरॉइड और लिम्फेडेमा की आशंका है तो भी पैरों की सूजन के रूप में संकेत मिलते हैं। इसके अन्य सामान्य कारणों में एनीमिया, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल डिसऑर्डर और सर्जरी के बाद धमनियों से जुड़ी बाधाएं शामिल हैं।

सूजन का पता ऐसा लगाएं- 
पैरों की सूजना का सही-सही पता लगाना है तो कम्प्लीट ब्लड काउंट और यूरिन टेस्ट कराएं। इससे संबंधी सेल या इन्फेक्शन का पता चलेगा। इसके अलावा चेस्ट एक्सरे, ईसीजी और डॉप्लर स्टडी से भी इसका सही कारण पता लगाया जा सकता है।

पैरों में जब सूजन होती है तो दर्द नहीं होता। उस स्थान पर त्वचा का रंग जरूर बदल जाता है, छूने पर गरम लगता है। कभी-कभी लगता है उस स्थान पर मवाद भरा है।

करें यह इलाज-
थोड़ी-बहुत सूजन को कुछ आसान उपायों से दूर किया जा सकता है। जैसे – सोते समय पैरों के नीचे एक या दो तकिए रखें, ताकि पैर हार्ट के लेवल से ऊपर रहें। इससे मदद मिलेगी। इसके अलावा यदि किसी मेडिकल कंडिशन के कारण सूजन हो रही है तो इसके लिए जांच और दवा जरूरी होती है। कई बार लाइफस्टाइल में मामूली फेरबदल कर सूजन को दूर किया जा सकता है। जैसे – व्यायाम, मॉलिश या ऐसे तरीके जिनसे ब्लड सर्कुलेशन में सुधार हो।

इसके अलावा रक्त प्रवाह से जुड़े घरेलू उपचार भी कारगर साबित होते हैं। जैसे – सूजन वाले हिस्से पर नमक, बैकिंग सोडा, चावल का पानी या नींबू पानी का घोल डालना। ध्यान रहे यह पानी गुनगुना होन चाहिए।

यदि सूजन लंबे समय से बनी हुई है। दर्द भी हो रहा है। सूजन वाली जगह पर रेल चकत्ते बन गए हैं। सिने में भी दर्द हो रहा है, सांस फूल रही है तो तत्काल डॉक्टर से मिलें। यदि किसी एक पैर में भी सूजन है तो डॉक्टर की सलाह जरूर लेना चाहिए।

कुल मिलकर भले ही सूजन के कारण दर्द नहीं होता है, लेकिन इसके पीछे कई गंभीर कारण भी हो सकते हैं। सूजन के कारण रोजमर्रा के काम करने में परेशानी हो सकती है। इस स्थिति से बचने और पैरों को स्वस्थ्य रखने के लिए नमक का सेवन कम करें और लगातार व्यायाम करते रहें।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com