Tuesday , July 14 2020

Pi Health:: World Brain Tumor Day 2020…,अगर आपके भी सिर में होता हैं तेज दर्द तो ध्यान दीजिये, कहीं ब्रेन ट्यूमर तो नहीं है?

(Pi Bureau)

जर्मन ब्रेन ट्यूमर एसोसिएशन की स्थापना 1998 में हुई थी। उस समय 14 देशों के 500 सदस्यों ने एसोसिएशन में अपना रजिस्ट्रेशन कराया था। एसोसिएशन विश्वभर में ब्रेन ट्यूमर के पेशेंट्स और उनके परिवार के सहयोग के लिए था। इसके साथ ही साल 2000 से हर साल 8 जून को विश्व मस्तिष्क ट्यूमर दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने के पीछे उद्देश्य है कि लोगों को ब्रेन ट्यूमर के बारे में जागरूक करना है।

ब्रेन हमारे शरीर का अहम हिस्सा होता है। ऐसे में हमें ब्रेन से जुड़ी किसी भी समस्या को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। ब्रेन के साथ थोड़ी-सी भी लापरवाही हमारी जान को जोखिम में डाल सकती है। इसकी जानकारी के साथ ही ये भी बता दें कि कभी-कभी अचानक हमारे ब्रेन में दिक्कत होती है। जांच कराने पर पता चलता है कि ब्रेन ट्यूमर हुआ है। यह किसी भी उम्र में हो सकता है। हमारा ब्रेन सेल्स से बना होता है। जब भी किसी कारण से ब्रेन की सेल्स का नियंत्रण बिगड़ने लगता है तो यह सेल्स खत्म होने लगती हैं। इसके बाद ब्रेन के काम में रूकावट पैदा होने लगती है। वहीं, जब ब्रेन में अनियं‍त्रि‍त सेल्स तेजी से फैलती है तो कैंसर का रूप धारण कर लेती हैं।

हम आपको बताते हैं कि ब्रेन ट्यूमर होने पर क्या लक्षण नजर आने लगते हैं। जिनकी पहचान करना बहुत जरूरी है।

लक्षण-1. सिरदर्द
ब्रेन ट्यूमर की शुरूआत में सिर में तेज और लगातार दर्द का अहसास होता है। इसके बाद यह धीरे-धीरे बढ़ता जाता है। इन बातों का पता लगते ही तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

2. उल्टी आना
इतना तेज दर्द कि सहन न कर पाना और इसके साथ ही उल्टी आना भी ब्रेन ट्यूमर का शुरुआती लक्षण है।

3. देखने-सुनने-बोलने में परेशानी
ब्रेन में ट्यूमर होने पर देखने में भी परेशानी होने लगती है। अगर धुंधला दिखाई दें और रंगों को पहचानने में परेशानी हो तो समझ लेना चाहिए कि यह ब्रेन ट्यूमर के शुरुआत है। इसके अलावा ट्यूमर होने पर सुनने में समस्या होती है। जिन लोगों को ब्रेन के टैंपोरल लोब में ट्यूमर होता है, उनके सुनने की क्षमता कमजोर होनी शुरू हो जाती है। वहीं, जब बात करने में परेशानी आने लगे तो यह ट्यूमर के लक्षण हो सकता है।

4. दौरे पड़ना
ब्रेन ट्यूमर होने पर मांसपेशियों में ऐंठन महसूस हो सकती है। कभी-कभी यह ऐंठन बेहोशी की हालत में भी पहुंचा सकती है। यदि आपको ऐसा अहसास होता है तो जांच करानी चाहिए ताकि सही समय पर उपचार हो सके।

5. याददाश्त कमजोर होना
ब्रेन ट्यूमर के होने पर दिमाग के सोचने और समझने की क्षमता पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। जिससे कि हमारी याददाश्त कमजोर हो जाती है और हम बातों को भूलने लगते हैं।

6. शरीर के एक भाग में कमज़ोरी
शरीर के एक भाग में कमजोरी महसूस करना या फिर चेहरे के कुछ भाग में कमजोरी का अहसास होना ब्रेन ट्यूमर का कारण हो सकता है।

ब्रेन ट्यूमर के प्रकार
1- प्राइमरी ब्रेन ट्यूमर सिर्फ ब्रेन के उसी हिस्से में बढ़ता है, जिसमें शुरू होता है।
2- सेकंडरी ब्रेन ट्यूमर की शुरुआत ब्रेन एक हिस्से में होती है लेकिन बाद में यह शरीर के दूसरे हिस्से जैसे- फेफड़े, ब्रेस्ट, किडनी, स्किन आदि में फैलने लगता है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com