Tuesday , July 14 2020

छोटे कारोबारियों के लिए आई बड़ी खबर, अब SMS के जरिए भर सकेंगे GST रिटर्न, सरकार ने जारी किया 5 अंकों वाला ये नंबर !!!

(Pi Bureau)

गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) प्रणाली में रिटर्न भरने की नई सुविधा से छोटे कारोबारियों को बड़ा फायदा होगा. केंद्र सरकार की इस सुविधा से गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स असेसी अपने फोन से सिर्फ एसएमएस (SMS) भेजकर जीएसटी रिटर्न (GST Return) फाइल कर सकेंगे. सरकार ने निल जीएसटी (GST) भरने वाले कारोबारियों के लिए ये सुविधा शुरू की है. इस सुविधा के जरिये रिटर्न दाखिल करने के लिए कारोबारियों को विशेष मोबाइल नंबर 14409 पर SMS भेजना होगा. इस सुविधा के शुरू होने से देश के 22 लाख कारोबारियों को फायदा होगा.

इसकी जानकारी देते हुए केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी) ने कहा, ‘‘टैक्‍सपेयर्स की सुविधा के लिये बड़ा कदम उठाते हुए सरकार ने एसएमएस के जरिये जीएसटीआर-3बी फार्म में शून्य जीएसटी मासिक रिटर्न भरने की अनुमति दे दी है. इससे 22 लाख रजिस्‍टर्ड टैक्‍सपेयर्स को लाभ होगा. ’’

कैसे होगा वेरिफिकेशन

इस सुविधा के तहत जिन इकाइयों की फॉर्म जीएसटी-3बी में सभी सारणी में शून्य या कोई ‘एंट्री’ नहीं है, वे पंजीकृत मोबाइल नंबर का उपयोग कर एसएमएस के जरिये रिटर्न फाइल कर सकते हैं. रिटर्न का वेरिफिकेशन रजिस्‍टर्ड मोबाइल नंबर आधारित वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) सुविधा के जरिये होगा.

सीबीआईसी ने कहा कि जिन टैक्‍सपेयर्स की देनदारी शून्य है, उन्हें जीएसटी पोर्टल पर ‘लॉग ऑन’ करने की जरूरत नहीं है. केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड ने केंद्रीय जीएसटी नियमों में नया नियम पिछले महीने पेश किया था. सीबीआईसी ने कहा, ‘‘जीएसटीएन पोर्टल पर तत्काल प्रभाव से शून्य फॉर्म जीएसटीआर-3बी भरने के तरीके के बारे में जानकारी उपलब्ध है.’’ आपको बता दें कि जीएसटी के तहत 1.22 करोड़ इकाइयां रजिस्‍टर्ड हैं.

बता दें कि इसी महीने जीएसटी काउंसिल की बैठक होने की संभावना है. बताया जा रहा है कि टैक्‍स कलेक्‍शन घटने के बावजूद वित्त मंत्रालय गैर-जरूरी वस्तुओं पर जीएसटी की दर बढ़ाने के पक्ष में नहीं है. दरअसल, गैर-जरूरी वस्तुओं पर अगर जीएसटी की दर बढ़ाई जाती है तो यह उनकी मांग को कम करेगा. अंतत: इससे अर्थव्यवस्था के फिर पटरी पर लौटने की रफ्तार कम होगी.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com