कोरोना के इस संकट काल में अब सात समूद्र पार के इस देश ने PM मोदी से लगाई वैक्सीन के लिए मदद की गुहार !!!

(Pi Bureau)

कोरोना के इस संकट काल में भारत अपने पड़ोसी देशों को वैक्सीन मुहैया कराकर न सिर्फ पड़ोसी धर्म निभा रहा है, बल्कि मानव धर्म की मिसाल भी कायम कर रहा है। भारत सरकार ने आज से भूटान, मालदीव, बांग्लादेश, नेपाल, म्यांमार और सेशेल्स को अनुदान सहायता के तहत (गिफ्ट के तौर पर) कोरोना वैक्सीन की आपूर्ति शुरू कर दी है। भारत के इसी सहयोग की भावना को देखते हुए अब सात समूद्र पार के देश भी वैक्सीन के लिए मदद की गुहार लगा रहे हैं। कैरिबियाई देश डोमिनिकन गणराज्य के प्रधानमंत्री रूजवेल्ट स्केरिट ने पीएम नरेंद्र मोदी को खत लिख वैक्सीन के लिए मदद की अपील की है। उन्होंने पीएम मोदी को पत्र लिखकर वैश्विक महामारी से निपटने के लिए कोवैक्सीन की 70,000 खुराक मांगी है।

पीएम स्केरिट ने लिखा ‘जैसा कि हम 2021 में प्रवेश कर चुके हैं और कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई जारी है. डोमिनिका की 72 हजार की आबादी को ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजैनेका की वैक्सीन की सख्त जरूरत है. इसलिए मैं आपसे विनती करता हूं कि हमारी जनता को सुरक्षित रखने के लिए आप हमें जरूरत के मुताबिक, कोरोना वैक्सीन की डोज दान कर सहयोग करें.’

उन्होंने लिखा ‘मैं आपका कोविड-19 वैक्सीन पाने की होड़ में हमारे लोगों के सामने मौजूद चुनौती की तरफ आपका ध्यान आकर्षित करना चाहूंगा. अपने आधे से ज्यादा डोज को दुनिया के विकासशील देशों को देने की ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजैनेका की शपथ के बावजूद बड़ी संख्या में डोमिनिकन लोगों को लंबे समय तक वैक्सीन नहीं मिल सकेगी.’ पीएम ने लिखा ‘हम एक छोटे द्वीप और विकासशील राष्ट्र हैं और वैक्सीन की बड़ी मांगों वाले बड़े राष्ट्रों के साथ होड़ करने में सक्षम नहीं हैं’

डोमिनिकन गणराज्य देता रहा है भारत का साथ
डोमिनिकन गणराज्य के साथ भारत के नजदीकी संबंध हैं. वहीं, जब कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान अपने सहयोगी चीन के साथ भारत को निशाना बना रहा था, तो इस कैरिबियाई आईलैंड ने भारत का समर्थन किया था. खास बात है कि दुनिया के कई देशों की मदद करने का पहले ही पीएम मोदी ऐलान कर चुके हैं.

Loading...

About sonali