ग्रेटर नोएडा: नस्लीय हमले बढे,ऑटो से खींच के अफ़्रीकी लड़की को पीटा !!!

(Pi Bureau)

 

पिछले कई दिनों से रुक रुक के हो रहे नस्लीय हमलो से अफ़्रीकी मूल के छात्रो में भय और असुरक्षा का माहौल बनता जा रहा है जिसके चलते बड़े पैमाने पर यह छात्र और छात्रायें अपने मुल्क को वापस जा रहे है. हलाकि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ ने छात्रो की पूरी सुरक्षा की बात कही थी और केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज ने भी उनको भरोसा दिलाया था कि ऐसी फिर नहीं होंगी और दोषियों पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी. पर स्थिति यह है कि ग्रेटर नोएडा में स्थिति सामान्य होती नज़र नहीं आती दिख रही है.

ग्रेटर नोएडा में हुए नस्लीय हमले के बाद यूपी पुलिस उन्हें सुरक्षा देने में नाकाम होती नजर आ रही है। अफ्रीका छात्रों पर हमलों का सिलसिला जारी है। बुधवार को एक अफ्रीकी लड़की के साथ कुछ लोगों ने मारपीट की और फरार हो गए। लड़की केन्या की रहने वाली बताई जा रही है। मंगलवार को ही पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने विदेशी नागरिकों को पूरी सुरक्षा दिए जाने का भरोसा दिलाया था।

 

 

मिल रही खबरों के अनुसार घटना ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क थाना क्षेत्र की है। एक अफ्रीकी लड़की को कॉलेज जाते समय ऑटो से घसीट कर कुछ लडको ने उसके साथ जम कर मारपीट की । आरोपी लड़की को पीटने के बाद मौके पर से फरार हो गए ।

मारपीट की उक्त घटना के बाद लड़की को कैलाश अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल के मेडिकल सूपरिंटेंडेंट डॉ. सनिल कपूर ने बताया कि लड़की शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं दिखे, उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। हलाकि लड़की के शरीर पर खरोंचो और नाखुनो के निशान थे और उसके कपडे भी फट गए थे. उपद्रवी लडको ने उसके बालो को पकड़ के घसीटा भी था.

 

मंगलवार को जिले के डीएम की मीटिंग में पुलिस अधिकारियों ने विदेशी नागरिकों को सुरक्षा का भरोसा दिलाया था, पर ताजा घटना से साफ है कि पुलिस अफ्रीकी छात्रों को सुरक्षा देने में नाकाम साबित हो रही है।

 

 

बताते चले कि ग्रेटर नोएडा में एक 19 वर्षीय मनीष खैरी जो की कक्षा 11 का विद्यार्थी था की मौत के बाद से वहां इस तरह की घटनाओ की बाढ़ आई हुयी है. उक्त छात्र की मौत, लोगो के मुताबिक ड्रग्स की ओवर डोज के कारण हुयी थी, हलाकि मेडिकल रिपोर्ट में मौत की वजह कार्डियेक अरेस्ट बताया गया था.

स्थानीय लोगो का मानना है की अफ़्रीकी मूल के छात्र यहाँ के छात्रो को ड्रग्स की लत डलवाते है और उसे सप्लाई भी करते थे जिसकी वजह से शहर के लोगो का गुस्सा भड़क उठा है.

उन्होंने रविवार रात से सोमवार शाम तक 5 अलग-अलग जगहों पर अफ्रीका छात्रों को जमकर पीटा था और उनकी गाड़ियों में तोड़फोड़ की थी। मामले में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने दखल देते हुए यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगी थी, जिसके बाद पुलिस ने सुरक्षा का पूरा भरोसा दिलाया था।

 

पुलिस ने इस मामले में तकरीबन 600 लोगों के खिलाफ दंगा भड़काने और 44 लोगों पर हत्या की कोशिश का केस भी दर्ज किया है।

बताते चले शनिवार शाम अनसल्स मॉल में छात्रो पर हुये हमलो के खिलाफ, पुलिस ने एफआईआर दर्ज करते हुये, 24 घंटे के अंदर ही 5 चिन्हित लोगो की गिरफ़्तारी कर लिया था, जिनको कोर्ट में पेश करके जेल भेजा जा चूका है. फिलहाल शहर में उक्त मौत के बाद तनाव है और विदेशी छात्रो भय और असुरक्षा का भाव बना हुआ है.

Loading...