सुकमा पर राकेट लांचर और AK 47 से हुआ था हमला , दिल्ली में आज अहम बैठक !!!

(Pi Bureau)

 

रायपुर : छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में सोमवार को नक्सलियों ने घात लगा कर किये गए हमले में 25 जवान शहीद हो गए । हमले में कंपनी कमांडर रघुवीर सिंह भी शहीद हो गए है । हमला करने वाले नक्सलियों की संख्या 300 के आसपास बताई जा रही है जिसमे महिलाये भी शामिल थी । हमले के बाद नक्सली हथियार भी लूट के ले गए है ।

छत्तीसगढ़ से आ रही सूचनाओं के मुताबिक सुकमा में सोमवार को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की टीम पर हुआ नक्सली हमला जवानों के कैंप से सिर्फ 2 किलोमीटर की दूरी पर हुआ। सीआरपीएफ के जवान सड़क निर्माण में मदद कर रहे थे। हमले में 25 जवान शहीद हुए हैं, जबकि 6 घायल हुए हैं।

खबरों के मुताबिक 300 के करीब नक्सलियों ने रॉकेट लांचर और एके-47 से इस हमले को अंजाम दिया। 99 सदस्यों वाली सीआरपीएफ की टीम नक्सलियों की साजिश में उलझ कर रह गई और बड़ी संख्या में जवानों को शहादत देनी पड़ी। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि नक्सलियों ने बेहतर योजना बनाई थी ।

 

नक्सलियों के हमले पर प्रतिक्रिया देते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इसे चैलेंज बताया और कहा कि हम इसे स्वीकार करते हैं। गृहमंत्री शहीदों को आज रायपुर जाकर श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। सुकमा में हुए नक्सलियों के हमले के बाद आगे की रणनीति तय करने के लिए केंद्र की आज बैठक होगी।

 

बताते चले साल भीतर  नक्सलियों का यह दूसरा हमला है। दक्षिण बस्तर के काला पत्थर इलाके में नक्सलियों ने दोपहर के 1 बजे के करीब सीआरपीएफ टीम को निशाना बनाया।

हमले में घायल सीआरपीएफ जवान शेर मोहम्मद ने बताया कि माओवादियों ने पोजिशन का पता लगाने के लिए पहले ग्रामीणों से रेकी करवाई । उसके बाद घटना को अंजाम दिया ,मुठभेड़ लगभग तीन घंटे तक चली।

 

घात लगाकर हुये हमले में बच निकले जवानों ने बताया कि हमला करने वाले नक्सली काला नकाब पहने हुए थे। साथ ही उन्होंने हैंड ग्रेनेड, ऑटोमैटिक राइफल और रॉकेट लांचर का भी हमले में प्रयोग किया।

 

उधर दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने  शहीद जवानों की शहादत पर कहा है कि जवानों का यह बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। हमले को कायरता करार देते हुए मोदी ने इसकी निंदा करते हुए कहा वह लगातार स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। मोदी ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर हमले की निंदा की।

 

Loading...