हम कश्मीरी नौजवानों को रोजगार देंगे – हुनर देखना चाहते हैं : गृहमंत्री राजनाथ सिंह !!!

(Pi Bureau)

 

नई दिल्ली : मोदी सरकार के कार्यकाल के तीन साल पूरे होने के उपलक्ष में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज मीडिया से बात करते हुए कहा कि हम कश्मीरियों के हाथ में पत्थर नहीं देखना चाहते हैं. राजनाथ सिंह ने आगे कहा कि इसके बदले हम कुदरत ने उनके हाथों में जो हुनर दिया है, उसे देश और राज्य के विकास में लगते देखना चाहते हैं.

 

राजनाथ तीन साल पूरे होने पर  अपने मंत्रालय का रिपोर्ट कार्ड पेश करते हुए कहा कि दुनिया में सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी भारत में है फिर भी आईएसआईएस देश में पैर नहीं जमा सका. यह ही इस देश की ताकत है .

कश्मीर पर बोलते हुए राजनाथ ने कहा, जम्मू कश्मीर में स्थायी तौर पर अमन चैन की बहाली के लिये सरकार ने एकीकृत और समग्र रणनीति अपनायी है. इसमें राज्य को आतंकवादी हिंसा से निजात दिलाने के लिये बातचीत और स्थानीय लोगों की भूमिका सुनिश्चित करने सहित सभी संभव विकल्प अपनाये जायेंगे.

 

उन्होंने कहा कि सरकार ने पूरी जिम्मेदारी से देश को सुरक्षा मुहैया करवाने की पूरी-पूरी कोशिश की. देशभर से आईएसआईएस के प्रति सहानुभूति रखने वाले 90 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. आतंकी संगठनों की सूची में आईएसआईएस और अंसार उल अम्माह को शामिल किया गया है.

 

सिंह के मुताबिक वर्ष 2011-2014 तक संप्रग सरकार के कार्यकाल के मुकाबले वर्ष 2014 से 2017 तक नक्सली हमलों में 25 फीसदी की कमी आई है. उन्होंने कहा कि संप्रग सरकार के अंतिम तीन वषरें की तुलना में राजग सरकार के तीन वषरें में नक्सली हमलों में होने वाली मौतों में 42 फीसदी की कमी देखी गई है.

 

गृहमंत्री ने कहा कि पिछले वर्ष सितंबर माह में नियंत्रण रेखा पार की गई सर्जिकल स्ट्राइक के बाद के छह महीनों में पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ की कोशिशों में बीते वर्ष इसी अवधि की तुलना में 45 फीसदी की कमी आई है. राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद को खत्म करेगी और जम्मू-कश्मीर में शांति सुनिश्चित करेगी.

Loading...