दूसरी बार टूटेगी रोजा अफ्तार करने की परंपरा/ सीएम आवास में नहीं होगा आयोजन !!!

(Pi Bureau)

 

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री आवास पर माहे रमजान पर होने वाले रोजा अफ्तार आयोजन की परंपरा दूसरी बात टूटने जा रही है । प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के 5-कालिदास मार्ग स्थित सरकारी आवास पर इस साल मुसलमानों के लिए रोजा अफ्तार पार्टी का आयोजन नहीं होगा। बीते कई वर्षो से रमजान माह में होने वाली अफ्तार पार्टी की परम्परा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तोड़ने जा रहे हैं। यह माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नक्शे कदम पर चलने के कारण यह परम्परा टूट रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी बीते तीन वर्षो से पीएम आवास पर अफ्तार पार्टी का आयोजन नहीं कर रहे हैं।यहां यह बताना जरूरी है कि भाजपा के ही मुख्यमंत्री रहे कल्याण सिंह और राजनाथ सिंह अपने मुख्यमंत्रित्व काल में रमजान माह में मुसलमानों के लिए रोजा अफ्तार पार्टी का आयोजन करते थे। इसके अलावा भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी भी रमजान में अफ्तार पार्टी का आयोजन करते थे लेकिन भाजपा के ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उस पुरानी परम्परा को तोड़ने जा रहे हैं। योगी आदित्यनाथ कट्टर हिन्दूवादी हैं। साथ ही वह गोरक्षनाथ मंदिर के महंत भी हैं। मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर पूर्व मुख्यमंत्री हेमवती नन्दन बहुगुणा ने 1974 से रमजान में मुसलमानों के लिए अफ्तार पार्टी का आयोजन किया था। तभी से यह परम्परा चली आ रही थी।इससे पहले भाजपा के मुख्यमंत्री रहे राम प्रकाश गुप्त ने भी यह परम्परा तोड़ी थी। उन्होंने भी मुख्यमंत्री रहते अफ्तार पार्टी का आयोजन नहीं किया था।अब योगी आदित्यनाथ भाजपा के दूसरे ऐसे मुख्यमंत्री बन गये हैं, जो अपने मुख्यमंत्रित्व काल में मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर रोजा अफ्तार पार्टी का आयोजन नहीं कर रहे हैं। हालांकि माना जा रहा है कि इस तरह की परम्परा तोड़ने से मुसलमानों में नाराजगी होगी लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इससे बेपरवाह दिख रहे हैं।

 

Loading...