कोर्ट का निर्देश : 6 माह तक निपटांए दागी सांसद और विधायक के Criminal मामले

(Pi Bureau) नई दिल्ली। अपराधिक मामलों में दोषी पाए गए विधायकों और सांसदों पर लाइफटाइम बैन लगाने के मामले में अब सुप्रीम कोर्ट लगातार सुनवाई करेगा। कोर्ट ने ये भी कहा कि अच्छा होगा कि अगर दोषी सांसदों और विधायकों के मामलों को 6 महीने के भीतर निपटा लिया जाए। अभी ऐसे सांसदों या विधायकों पर 6 साल तक चुनाव लडऩे पर प्रतिबंध है।

याचिकाकर्ता ने की 1 साल के अंदर सुनवाई पूरी करने की अपील
यह याचिका दिल्ली भाजपा प्रवक्ता अश्विनी कुमार उपाध्याय के द्वारा डाली गई है। इसकी सुनवाई जस्टिस रंजन गोगोई और नवीन सिन्हा की बेंच के नेतृत्व में चल रही है। याचिकाकर्ता की ओर से इस मामले की सुनवाई को 1 साल के अंदर पूरी करने की अपील की गई है। केंद्र सरकार की ओर से दाखिल किए गए हलफनामे में कहा गया कि मौजूदा समय में दोषी करार दिए गए सांसदों और विधायकों पर 6 साल चुनाव लडऩे पर प्रतिबंध लगाने वाला कानून संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन नहीं है।

कोर्ट में राम रहीम का दिया हवाला
याचिकाकर्ताओं ने कोर्ट से अपील की है कि वह इस मामले में केंद्र सरकार और चुनाव आयोग को निर्देश जारी करें, और एक्शन लें। वहीं सुप्रीम कोर्ट में याचिकाकर्ता के वकील ने दुष्कर्म के जुर्म में सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम का हवाला दिया। उन्होंने कहा कि अगर रोक नहीं लगी तो आने वाले समय में सजा पूरी करके वह भी चुनाव लडऩे आ सकता है। अगर ऐसा हुआ तो क्या होगा।

Loading...