यूएस कैपिटल में हिंसा के बाद फेसबुक और इंस्टाग्राम ने उठाया बड़ा कदम, 12 घंटे के लिए ब्लॉक किया डोनाल्ड ट्रंप का अकाउंट !!!

(Pi Bureau)

यूएस कैपिटल में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों द्वारा की गई हिंसा के बाद सोशल नेटवर्किंग साइट्स फेसबुक और इंस्टाग्राम ने गुरुवार को बड़ा कदम उठाया है। डोनाल्ड ट्रंप को दोनों ही साइट्स से अनिश्चितकाल तक के लिए बैन कर दिया गया है। फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग ने एक पोस्ट लिखकर डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ एक्शन लिए जाने की जानकारी दी है।

फेसबुक ने 24 घंटे के लिए ब्लॉक किया ट्रंप का पेज
वहीं, फेसबुक ने भी पोस्ट किया कि वह दो पॉलिसी उल्लंघन के चलते ट्रंप के पेज पर पोस्टिंग 24 घंटे के लिए प्रतिबंधित करता है. कैपिटल हिल पर ट्रंप समर्थकों की हिंसा को लेकर फेसबुक न्यूजरूम से ट्वीट किया गया, ‘प्रेसिडेंट ट्रंप के खिलाफ हमने दो वॉयलेंस पॉलिसी के तहत एक्शन लिया है. ट्रंप का फेसबुक पेज 24 घंटे के लिए ब्लॉक कर दिया गया है. उनका एक वीडियो भी हटा लिया गया है. इसका मतलब ये है कि ट्रंप इस दौरान अपने अकाउंट से कोई भी पोस्ट नहीं कर पाएंगे.’

इंस्टाग्राम ने भी 24 घंटे के लिए ट्रंप को कर दिया बैनट्विटर-फेसबुक के बाद इंस्टाग्राम ने भी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को 24 घंटे के लिए ब्लॉक कर दिया है. इंस्टाग्राम के हेड एडम मसैरी ने कहा, ‘हम प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप का इंस्टा अकाउंट 24 घंटे के लिए लॉक कर रहे हैं.’

बता दें कि ट्रंप के हार मानने से इनकार के बाद उनके समर्थकों ने ट्रंप समर्थकों की भीड़ ने यूएस कैपिटल हिल बिल्डिंग के बाहर हंगामा किया. अमेरिका के प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडन ने यूएस कैपिटल हिल में ट्रंप समर्थकों के हंगामे को राजद्रोह करार दिया है

ट्रंप ने की शांति की अपील
हिंसा पर उतारू समर्थकों से ट्रंप ने शांति की अपील भी की. उन्होंने कहा, ‘मैं अमेरिकी कैपिटल में सभी से शांतिपूर्ण रहने की अपील करता हूं. हिंसा नहीं होनी चाहिए! याद रखें, हम कानून और व्यवस्था बनाए रखने वाली पार्टी हैं. कानून और महान पुरुषों व महिलाओं का सम्मान करें. धन्यवाद!’

कैसे शुरू हुआ ये सब हंगामा
ये सब हंगामा ट्रंप के भाषण के बाद शुरू हुआ. बाइडन की जीत पर संसद के फाइनल फैसले से डरे ट्रंप ने पहले ही वॉशिंगटन में एक बड़ी रैली बुलाई थी. इस रैली में आए समर्थक ट्रंप के भाषण के बाद भड़क गए. ट्रंप ने सीधे-सीधे कह दिया कि अमेरिकी चुनाव में धांधली हुई है और बाइडन के वोट कंप्यूटर से आएं हैं.

ट्रंप ने ये मानने से ही इनकार कर दिया कि बाइडन को 8 करोड़ वोट मिले हैं. इधर ट्रंप भाषण दे रहे थे, उधर भीड़ ट्रंप-ट्रंप के नारे लगा रही थी. इसी दौरान ट्रंप समर्थक ससंद के भीतर घुस गए. हालांकि भीड़ को देखने के बाद ट्रंप ने अपने समर्थकों से शांति बनाए रखने की अपील की, लेकिन ट्रंप की अपील सिर्फ नामभर की थी.

Loading...

About sonali